बहन की पेंटी में हाथ डालने लगा मैं गरम होकर – Crazy Sex Story


बहन की पेंटी में हाथ डालने लगा मैं गरम होकर

Nai Bahan Ki Chudai, XXX Hindi Kahani, मेरा नाम नौशाद है, मेरी उम्र 22 साल है और मेरी बहन की उम्र 23 साल है, उसका रंग गोरा, बूब्स साईज 28, हाईट 5 फुट 5 इंच है और उसका फिगर बहुत ही सेक्सी है. हम कोलकाता में रहते है, मेरे अब्बू दुबई में बिजनस करते है. इस बार जब अब्बू घर आये तो उन्होंने हमारी अम्मी को भी दुबई घुमाने अपने साथ ले गए, तो हम दोनों यहाँ अकेले रह गये. बहन की पेंटी में हाथ डालने लगा मैं गरम होकर.

अब में सीधा स्टोरी की तरफ आता हूँ. उस दिन मेरा जन्मदिन था, में ज़्यादा घर से बाहर रहता था. तो वो घर में अकेली उदास होती थी और कहती थी कि जब से अब्बू अम्मी दुबई गये है तुम आवारा हो रहे हो, जल्दी घर आया करो, में अकेली उदास हो जाती हूँ.

फिर मैंने कहा कि सिर्फ़ जन्मदिन दोस्तों के साथ मनाने दो, फिर घर पर टाईम दिया करूँगा. फिर उसने कहा कि नहीं जन्मदिन घर पर रख लो और अपने दोस्तों को घर पर ही बुला लो. फिर पहले तो में नहीं माना, लेकिन वो नाराज़ हुई इसलिए मान गया तो मैंने सबको अपने घर पर इन्वाइट किया.

मस्त हिंदी सेक्स स्टोरी : Meri Chut Ne Bahut Pareshan Kar Rakha Hai Shant Kar

में अपनी बहन को कई साल से पसंद करता था और सोचता था कि उसे सेक्स के लिए कैसे मनाऊं? और डरता भी था कि वो कहीं अम्मी अब्बू को ना बता दे. फिर मेरे जन्मदिन के एक दिन पहले उसने पूछा कि तुम्हें क्या गिफ्ट चाहिए? तो मैंने कहा था कि बाद में बता दूंगा.

फिर मेरा जन्मदिन आया, मेरे सब दोस्त आए और सबने मुझे गिफ्ट दिए, तो तभी उसने मुझसे कहा कि सबने गिफ्ट दिए और मुझे शर्मिंदगी हुई कि मैंने अपने भाई को कोई गिफ्ट नहीं दिया. फिर मैंने कहा कि रात को बताऊंगा, अभी में बाहर जा रहा हूँ.

फिर में रात को घर आया और हमने साथ में खाना खाया, हम एक ही रूम में टी.वी देखते और फिर अपने-अपने रूम में सो जाते थे. अब हम दोनों टी.वी देख रहे थे. फिर जब उसने पूछा कि तुमने बताया नहीं तुम्हें क्या गिफ्ट चाहिए? तो मैंने अपनी नजर टीवी पर रखी और कहा कि पहले प्रॉमिस करो तुम गुस्सा नहीं करोगी. फिर उसने कहा कि इसमें प्रॉमिस की क्या बात है? मेरे एक ही भाई है, में उसे जरूर गिफ्ट दूंगी.

फिर तभी मैंने कहा कि नहीं में ऐसे नहीं बताऊँगा, तुम पहले प्रॉमिस करो. तो उसने कहा कि ओके प्रॉमिस. में कुछ देर खामोश रहा और टी.वी को देखते हुए बोला कि में तुम्हारे बूब्स देखना चाहता हूँ, तो वो एकदम गुस्से में आ गई और उसने कहा कि शट अप तुम्हें शर्म नहीं आती अपनी बहन से ऐसी बात करते हुए. फिर मैंने कहा कि आई एम सॉरी, मुझे पता था इसलिए में नहीं बता रहा था.

उसने कहा कि अगर में अब्बू को फ़ोन कर दूं तो? तो मैंने कहा कि तो में घर छोड़कर चला जाऊंगा. लेकिन आपने प्रॉमिस किया था कि आप गुस्सा नहीं करोगी. तो उसने कहा कि लेकिन हम बहन भाई है इसलिए मुझे नहीं पता था तुम ऐसी बात करोगे. तो उसने कहा कि ये भी कोई गिफ्ट है.

चुदाई की गरम देसी कहानी : Bhabhi Ki Sexy Video Chuup Kar Bana Liya Hindi Sex

तो तभी में बोला कि में बच्चा नहीं रहा जो खिलोने माँगता, गिफ्ट वही होता है जिससे खुशी मिले. मुझे सब गिफ्ट्स से ज्यादा इस गिफ्ट से खुशी मिलेगी और मैंने कहा कि हम फ्रेंड्स भी तो है, आज मेरा जन्मदिन है, मुझे तुम अच्छी लगती हो इसलिए कह दिया. फिर वो खामोश रही और टी.वी देखती रही. फिर जब मैंने 3 बार प्लीज कहा.

उसने कहा कि ओके आज तुम्हारा जन्मदिन है, लेकिन मेरी एक शर्त है तुम सिर्फ़ दूर से देखोगे और टच नहीं करोगे. फिर में खुश हो गया और मैंने ओके कहा. अब उसका चेहरा शर्म से लाल हो रहा था, अब उसने अपनी आँखें बंद की हुई थी.

मैनें देखा तो में देखता ही रह गया. तो मैंने कहा कि तुम बहुत सुंदर हो. फिर उसने कहा कि ओके, अब देख लिया बस? तो मैंने कहा कि मैंने पहले कभी किसी लड़की के बूब्स रियल में टच नहीं किए है, प्लीज एक बार टच करने दो.

तो उसने कहा कि नहीं तुमने प्रॉमिस किया था. फिर मैंने कहा कि हाँ किया था, लेकिन तुम इतनी खूबसूरत हो, प्लीज सिर्फ एक बार फिर कभी नहीं कहूँगा. फिर तभी उसने अपनी कमीज नीचे की और खामोश रही. फिर मैंने कहा कि जब देख लिया तो एक बार टच करके देखने से तुम्हारा क्या बिगड़ जाएगा? तो वो मुझे देखती रही. फिर मैनें अपनी आँखें नीचे कर ली.

उसने कहा कि सिर्फ़ आज तुम्हारा जन्मदिन है इसलिए, सिर्फ़ एक बार. अब में दिल में खुश हो गया था और कहा कि ओके. फिर जब मैंने उसे टच किया, तो उसने अपनी आँखें शर्म से बंद कर ली, तो मैंने इसका फ़ायदा उठाया और उसके बूब्स को किस कर लिया.

फिर तभी उसने अपनी आँखें खोली और कहा कि प्लीज ऐसा मत करो. फिर मैंने कहा कि में कौन सा सेक्स कर रहा हूँ? प्लीज कुछ मिनट से कुछ नहीं होगा, मुझे जी भरकर देखने दो, तुम मुझे बहुत अच्छी लगती हो, मैंने इतने प्यारे बूब्स कभी नहीं देखे और ये कहकर उसके बूब्स को सक करने लगा और वो अपनी आँखें बंद करके खामोश रही. फिर मैंने उसकी बॉडी को गर्दन से किस करना शुरू किया और अपने हाथ उसके कूल्हों पर ले गया और उसकी पेंटी में अपना एक हाथ डालने लगा.

मस्तराम की गन्दी चुदाई की कहानी : Garam Padosan Sheela Ki Gumbadkar Gaand

फिर उसने मुझे रोक दिया और कहा कि ये गलत है, सिर्फ़ ऊपर से ही करो. तो में उसके कपड़ो के ऊपर से ही उसकी चूत को सहलाने लगा और उसकी गर्दन, बूब्स और बॉडी पर किस करता रहा. तो तब मैंने अपनी शर्ट भी उतार दी और उसका एक हाथ अपनी कमर पर रख लिया. अब वो ज्यादा विरोध नहीं कर रही थी. अब में इतने प्यार से सक कर रहा था शायद उसे भी मज़ा आने लगा था, शायद वो इसलिए खामोश रही.

फिर मैंने उसकी इलास्टिक वाली सलवार उतारी. तो उसने एकदम से अपनी सलवार ऊपर खींची, तो मैंने कहा कि में पेंटी नहीं उतारूंगा, सिर्फ़ पैर पर किस करने के लिए उतार रहा हूँ. तो उसने अपने हाथ ढीले कर दिए. अब वो सिर्फ़ अपनी पेंटी में मेरे सामने थी.

में उसे किस करता हुआ उसकी चूत को उसकी पेंटी के ऊपर से किस कर रहा था. अब में उसकी पेंटी उतारने लगा, तो तब भी उसने मुझे रोक दिया. फिर मैंने कहा कि मुझे एक बार देखना है और प्लीज एक बार अंदर से किस करने दो, में सेक्स नहीं करूँगा. “बहन की पेंटी में”

फिर उसने कहा कि नहीं, तो मैंने कहा कि ओके. फिर मैनें उसको उल्टा किया और उसकी पीठ पर किस करने लगा. अब वो अपनी आँखें बंद करके उल्टी लेटी थी. फिर में किस करता हुआ उसका हाथ अपने लंड पर ले गया और अपना लंड मेरी अंडरवेयर के ऊपर से उसके हाथ में दिया, तो उसने अपना हाथ मेरे लंड पर से हटा लिया. फिर मैंने अपना अंडरवेयर भी निकाल दिया.

अब मेरा लंड टाईट था और बेकरार भी था. फिर मैंने उसका हाथ दुबारा से अपने लंड पर रखा, तो उसने मेरे लंड को पकड़ लिया, लेकिन वो मूव नहीं कर रही थी. फिर मैंने अपना एक हाथ उसके हाथ पर रखा और मूव करने लगा और फिर उसे सीधा किया, तो वो देखती ही रह गई.

तब उसने कहा कि तुम जवान हो गये हो, ये कितना हार्ड और कितना बड़ा है? फिर मैंने कहा कि इसे हिलाओ और फिर में उसके बूब्स को सक करने लगा. तो उसने कहा कि क्यों हिलाऊँ? और ये इतना गर्म क्यों है? तो मैंने कहा कि ये तुम्हें देखकर गर्म है, तुम हिलाओगी तो मुझे मज़ा आएगा.

फिर वो बहुत धीरे-धीरे मेरे लंड को हिलाने लगी और में उसके बूब्स को सक करता हुआ उसकी चूत पर आया और उसकी पेंटी तेज़ी से उतारने लगा. फिर उसने मुझे रोका, लेकिन अब उसकी पेंटी आधी उतर चुकी थी. तो मैंने कहा कि यह गलत बात है तुमने मुझे देख लिया है और मुझे नहीं देखने दे रही हो, प्लीज देखने दो ना, कुछ नहीं होगा, में भी तो नंगा हूँ.

अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरीज : Sex Ka Lesson Mummy Ne Padhaya Apne Students Ko

वो सीधी होकर लेट गई तो मैंने उसकी पेंटी निकाल दी. अब वो मेरे सामने पूरी नंगी थी, तो तभी मैंने कहा कि वाउ क्या खूबसूरत शेप है? और अपना हाथ लगाकर कहा कि ये तो बहुत मुलायम है. फिर उसने शर्माकर अपनी चूत पर अपने हाथ रख लिए. फिर में उसकी जांघो से किस करता हुआ उसके हाथों पर किस करने लगा और उसके हाथ हटाकर उसकी चूत पर टच किया, तो वो गीली हो रही थी. “बहन की पेंटी में”

अब में उसको धीरे-धीरे रगड़ने लगा, तो उसने मुझे खींचकर अपने गले लगा लिया और में अपने लिप्स उसके लिप्स पर रखकर ज़ोरदार किस करने लगा था. अब में समझ गया था कि ये गर्म हो चुकी है. अब में उसके लिप्स पर किस कर रहा था और मेरा लंड उसकी गीली चूत को टच कर रहा था. फिर मैंने अपना एक हाथ ले जाकर उसकी दिशा सही की और ज़ोर लगाने लगा.

उसकी आअहह निकली और वो एकदम से चौंक गई तो उसने कहा कि नहीं बस अब. अब मुझे पता था कि वो गर्म हो चुकी है, लेकिन डरती है कहीं प्रेग्नेंट ना हो जाए. फिर मैंने कहा कि बहुत मज़ा आ रहा है, एक बार अंदर करने दो, प्लीज.

फिर उसने कहा कि नहीं तुम्हारे पास कंडोम नहीं है और ये सही नहीं है. अब में समझ गया था कि इसका भी दिल लंड डलवाने का कर रहा है. फिर मैंने कहा कि में बाहर डिसचार्ज करूँगा प्रॉमिस. तो उसने कहा कि अगर तुमसे ग़लती हो गई तो में बर्बाद हो जाऊंगी.

फिर मैंने कहा मुझे तुम्हारी इज्जत का ख्याल है, हम बहन भाई है किसी को कभी शक नहीं होगा और में प्रॉमिस करता हूँ कि में बाहर डिसचार्ज करूँगा, हम दोनों घर में सेक्स के खूब मज़े लेंगे और जब दिल चाहे जैसे चाहे एक दूसरे के साथ इन्जॉय कर सकेंगे.

अब वो काफ़ी समझ चुकी थी. फिर मैंने उसे अपनी बाँहों में ले लिया और किस करना शुरू किया. अब वो भी मेरा साथ दे रही थी, शायद उसका भी दिल कर रहा था इसलिए वो मेरा साथ देने पर मजबूर थी और फिर मैंने उसे गारंटी भी दी थी कि कुछ नहीं होगा और में सब संभाल लूँगा.

फिर मैनें थोड़ी क्रीम अपने लंड पर लगाई और थोड़ी उसकी चूत पर भी लगा दी, उसकी चूत बहुत टाईट थी. फिर मैनें अपना लंड उसकी चूत पर सेट करके थोड़ा ज़ोर लगाया, तो उसकी चीख निकल गई, लेकिन मैंने अपनी स्पीड आहिस्ता की. फिर जब उसका दर्द कुछ कम हुआ, तो में ज़ोर-जोर से उसे चोदने लगा, वाउ क्या मज़ा आ रहा था?

कामुकता हिंदी सेक्स स्टोरी : Maa Ki Nai Bra Khol Kar Boobs Chuse

फिर कुछ देर बाद हम दोनों डिसचार्ज हो गये और डिसचार्ज के वक़्त मैंने अपना पानी बाहर निकाल दिया. उस वक़्त वो डॉगी स्टाइल में थी, तो मैंने अपना सारा वीर्य उसकी गांड पर गिरा दिया था जिससे उसने एक सुख की सांस ली. “बहन की पेंटी में”

हम दोनों ने साथ में बाथ लिया, अब वो बहुत खुश थी. फिर उसने कहा कि तुम बहुत मजबूत और स्मार्ट हो और फिर उसके बाद ये सिलसिला चलता रहा. फिर उसकी शादी हो गई, अब जब भी वो घर पर मिलने आती है, तो हम दोनों खूब इन्जॉय करते है और अब वो डरती नहीं है.

दोस्तों मैंने सिर्फ़ एक बार जब उसकी गांड मारी थी, तो तब उसे बहुत दर्द हुआ था, जो उसने बर्दाश्त किया था, लेकिन बाद में उसने कुछ नहीं कहा था. अब तो शादी के बाद उसका जिस्म भर गया है, अब मुझे उसके बूब्स दबाने में और भी मज़ा आता है और हम दोनों खूब सेक्स करते है.

दोस्तों आपको ये बहन की पेंटी में हाथ डालने लगा मैं गरम होकर कहानी मस्त लगी तो इसे अपने अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और Whatsapp पर शेयर करे…………….


Leave a Reply