Bahu Ka Sexy Jism – ससुर जी के बड़े लंड साथ रात गुजारी

[ad_1]

Bahu Ka Sexy Jism

मेरा नाम सुनीता है मैं भोपाल की रहने बाली हु, मेरी उम्र 24 साल है, मैं साधारण कद काठी की औरत हु, अभी तक मुझे कोई बच्चा नहीं हुआ है शादी के ३ साल हो गए है, मैं बहुत खूबसूरत महिला हु, मेरे पति मुझे बहुत प्यार करते है, मैं भी अपने पति को बहुत प्यार करती हु. Bahu Ka Sexy Jism

आज तक मेरे मन में किसी और पुरुष के प्रति कोई गलत विचार नहीं आया है, पर उस रात को मैनी भी बहक गई या तो यूं कहिये की मैंने अपने परिवार की इज्जत को बचाने के लिए भी चुद गई. एक दिन की बात है, मेरे पति कंपनी के काम से बाहर गए थे.

तीन दिन के लिए, घर में मैं मेरे ससुर जी और मेरी सासु माँ थी, शाम को ससुर जी की पार्टी थी उनके दोस्त के यहाँ तो वो वह चले गए घर में मैं और मेरी सासु माँ थी, तभी पड़ोस में एक औरत को बच्चा होने बाल था इसलिए उनके घर से बुलाने आ गया और माँ जी हॉस्पिटल चली गई,

गर्मी का दिन था, रात के दस बज रहे थे, बिजली चले जाने की वजह से निचे कमरे में काफी गर्मी हो रही थी, तो मैं छत पे चली गई, माँ जी और ससुर दोनों छत पे ही सोते है उन दोनों के लिए अलग अलग चारपाई लगा है, तो मैंने माँ जी के चारपाई ले लेट गई, और मुझे कब नींद आ गई पता ही नहीं चला, और मैं सो गई.

मस्त हिंदी सेक्स स्टोरी :भैया की चुदासी सास मुझसे चुदवाती

रात के करीब ११ बज रहे थे, तभी ससुर जी आये वो बहुत ही जयादा शराब पिए हुए थे, मैं नींद में थी, सासु माँ की चारपाई पे सोने की वजह से शायद ससुर जी को लगा की सासु माँ है. वो लड़खड़ाते हुए मेरे ऊपर लेट गए, और मेरी चूचियों को दबाने लगे.

मैं जग गई देखि की ससुर जी मेरे ऊपर लेते है और चूचियाँ दबा रहे है, ससुर जी की पकड़ काफी अच्छी थी, वो रिटायर्ड आर्मी अफसर है, मैं टस से मस नहीं हो पा रही थी, मैंने कहा छोडो प्लीज.

तो ससुर जी बोले आज नहीं छोड़ूंगा तुझे, आज तो चोद के ही रहूँगा माधुरी बहुत दिनों से नहीं चोदा हु, आज तो चोद के रहूँगा देख माधुरी आज मेरे लण्ड कितना बड़ा और मोटा है, तू कहती थी ना की मैं संतुष्ट नहीं कर पता हु आजकल आप बूढ़े हो गया हो, पर आज मैं तुम्हे संतुष्ट करूँगा माधुरी, आज मैं शिलाजीत ही खा के आया हु, आज मैं जवान हो गया हु.

चुदाई की गरम देसी कहानी :Didi Apna Doodh Dikhao Na Bahut Man Kar Raha Hai

ये सब कहते कहते उन्होंने मेरी नाइटी की ऊपर कर चुके थे, मैं हिल भी नहीं पा रही थी, अगर मैं शोर मचाती तो बगल बाले छत पे भी लोग सो रहे थे, मैं सोची की मेरी तो इज्जत जाएगी और ससुर जी की इज्जत समाज में बहुत अच्छी है वो एक दम से ख़राब हो जाएगी.

इस वजह से मैं भी सोची की चुप रहती हु किसी तरह से निकल जाउंगी और अपने कमरे में चली जाउंगी पर ये सब सोचते सोचे बहुत देर हो चूका था, मैं मजबूर थी उनकी पकड़ से, तब तक वो अपना लण्ड मेरी चूत में घुसा चुके थे.

ससुर जी का लण्ड बहुत ही मोटा और लंबा था, मेरे चूत में टाइट समा गया था, ससुर जी कह रहे थे माधुरी आज तो तेरी चूत बड़ी ही टाइट लग रही है ऐसा लगा रहा है जैसा की मुझे सुहागरात में आज से 28 साल पहले फील हुआ था, और तेरी चूचियाँ भी बड़ी और तनी हुई है, क्या बात है माधुरी, ओह्ह्ह्ह्ह आअज तो मजा गया.

मस्तराम की गन्दी चुदाई की कहानी :Master Ji Meri Chut Me Thuk Laga Kar Bahut Pela

और वो जोर जोर से मेरे चूत में अपना लण्ड पेलने लगे, मैं चुपचाप चुदवाती रही क्यों की जो होना था सो हो चूका था, मैंने सोच लिया की जैसा ही उनकी चुदाई खत्म होगी निचे चली जाउंगी, ससुर जी नशे में है उनको पता ही नहीं चल पा रहा है की सासु माँ की नहीं वो अपने बहू की चुदाई कर रहे है.

उसके बाद वो तो मेरी चूत और चूचियों पे टूट पड़े, वो मेरी चूची को मसल रहे थे और जोर जोर से गांड को उछाल उछाल के अपने लण्ड को मेरे चूत में गाड़े जा रहे थे, सच पूछिये तो दोस्तों उनकी चुदाई मेरे पति से भी मस्त था.

मेरा पूरा शरीर हिल रहा था उनके चुदाई के झटके से मुझे भी जोश चढ़ गया था, मैंने भी गांड उठा उठा के चुदवाने लगी, एक जो सबसे बड़ी बात थी की उनकी टाइम काफी ज्यादा थी चोदने की तब तक मैं दो बार झड़ चुकी थी पर वो अभी तक हाय हाय हाय करते हुए चोदे जा रहे थे.

कामुकता हिंदी सेक्स स्टोरी :पति से असंतुष्ट भाभी को पेलने का मज़ा मिल गया

अचानक एक लम्बी से आअह ली और उनका सारा माल मेरे चूत के अंदर ही चला गया, और वो निढाल हो के साइड में हो गए, और तुरंत ही पांच मिनट में नींद आ गई और वो सो गए, मैंने तुरंत ही निचे आ गई और सो गई. सुबह हुआ सब कुछ नार्मल था, वो वैसा ही इज्जत मेरी कर रहे थे जैसा पहले करते थे, वो नशे में थे इसवजह शायद उनको पता ही नहीं चला था रात की चुदाई का.

दोस्तों आपको ये Bahu Ka Sexy Jism की कहानी मस्त लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और Whatsapp पर शेयर करे……………………

[ad_2]

Leave a Reply