Bur Me Ungli Dala – दुसरे कमरे में माँ पापा चुदाई कर रहे थे


Bur Me Ungli Dala

मैं भवानी देवी ये कहानी 2012 की है वोह समय मेरी उम्र 15 साल थी तब मेरी माँ की उम्र 35 साल के थी मेरे पिताजी की उम्र 38 साल के थे मुझे याद है मेरी माँ 2012 मे माँ बेटी एक साथ जाती थीं तोह जो हमलोग के नही जानते मेरी माँ को मेरी बडी बहन कहती थीं. Bur Me Ungli Dala

मेरी माँ की फिगर कमाल के थे कुँवारे लड़के मेरी माँ को बहुत लाइन मारते थे 2012 मे जुलाई महीने की रात की बात है वो समय रात को बहुत जोर से बारिश हो रहे थे हमलोग अपने घर मे सौए थे अचानक मुझे कुछ आवाज से मेरी नींद टूटी नींद खुलने के बाद पता चला दूसरे कमरे मे मेरी माँ की चुदाई हो रही है मेरे पापा से.

मेरी माँ की चुदाई की करहाने की आवाज से मेरी नींद नही आ रही थीं मुझे भी अपनी चुदाई करने के मन कर रही थीं मेरी माँ की चुदाई की आवाज से मेरी नींद नही आ रही थी मेरे घर मे परिवार के सदस्यों कि संख्या 5 है.

मैं मेरे एक भाई 13 साल और छोटी बहन 9 साल मेरे घर मे 2 कमरे है एक कमरे मे मम्मी पापा और दूसरे कमरे में हमलोग 2 बहन और एक भाई सोते हैं मुझे चुदाई की बहुत मन कर रही थी इसलिए मैं अपने भाई के साथ सो गए.

मस्त हिंदी सेक्स स्टोरी : गांडू दोस्त की प्यासी माँ ने भी लंड चूसा मेरा

लेकिन मेरे भाई नींद से उठे नही मेरे बूर लंड लेने के लिए वायाकुल हो रही थी मजबूरी में अपनी बूर को शांत करने के लिए 20 मिनट तक अपने बूर को उंगली किये फिर रात को सो गए मुझे बूर में उंगली करते रहने की आदत पड़ गई क्योंकि मुझे लंड मिल नही रहे थे.

स्कूल भी हमारे दोनों बहन की गर्ल स्कूल थीं जो रोज मेरे पिताजी स्कूल छोड़ना आते थे लेकिन एक रात को मेरी भगवान ने मेरी लंड से चुदाई की इच्छा पूरी कर दी मेरे रूम में दो पलंग लगे रहते थे एक पलंग मे मेरी छोटी बहन स्वयं मैं सोती थीं दूसरे पलंग मेरे भाई.

तोह वोह रात को भी बूर में उंगली कर रही थीं गर्मी के महीने रहने के कारण खिडकी खुली रहते थे जिनके चलते रूम में लाइट कुछ आते थे मुझे महसूस हुई कि मेरे भाई जगा हुए हैं और मेरे भाई हस्तमैथून कर रहे है.

तोह मैं जल्दी से लाइट के स्विच ऑन किये तोह पाता चला मेरे भाई बिल्कुल नंगा है मुझे देख बहुत डर गए और मेरे सामने रोने लगे तोह मैं उसे कहा मैं मम्मी पापा को कुछ नही कहंगे अगर तू मेरी बात मानो तोह मेरे भाई मेरे पैरों में गिर गए.

चुदाई की गरम देसी कहानी : Sex Ka Lesson Mummy Ne Padhaya Apne Students Ko

तोह मैने कहा कल शाम को कोचिंग के समय 5 बजे मिलो मैंने उसे इसलिए बहार बुलाये की मेरी बात को मेरी छोटी बहन ना सुन ले मेरे भाई को डर अब खत्म हो गए और भाई को बोले चुपचाप सो जा अगले दिन मेरे भाई शाम को 5 बजे मेरे से मिले.

मैंने इतना कहा कि तुम रात को नही सोना क्योंकि छोटी बहन सोने के बाद हमलोग भाई बहन आपस मे चुदाई करेंगे मेरी बात से मेरे भाई के मुँह खुला के खुला रह गए और दोनो भाई बहन घर आ गए रास्ते मे आने के समय मैं अपने भाई को बोले कि छत में मिलना.

फिर घर आने के बाद कुछ देर के बाद मैं छत आ गए फिर मेरे भाई आये मैं अपने भाई से पूछे तुम हस्तमैथून कब से करने लगे तोह मेरे भाई बोले दीदी कुछ दिन से मुझे रात को पाता चलता है कि तुम बूर में उंगली करती हो इसलिए मेरे से जोश बर्दाश्त नही होते.

अब आगे तोह मैंने अपने भाई को कहे तू अपनी दीदी को आज रात को चोदने के लिये तैयार रहना इतना कह के हमलोग भाई बहन छत से रूम आ गए रात को खाना खाने के बाद हमलोग 3 भाई बहन रूम आ गए सोने के लिए.

मस्तराम की गन्दी चुदाई की कहानी : लंड पर थूक लगा कर चोदा ताई जी को

कुछ देर के बाद मेरी छोटी बहन सो गए तोह मैं आप अपने भाई के पलंग भाई के साथ सो गए मेरे भाई भी जगा हुए थे मेरे भाई मुझे निचे करके मेरे भाई मेरे ऊपर चढ़ गए मैं अपने भाई के लंड को पकड़ के देखा तोह खड़ा होने के बाद 4 इंच के थे शायद कम उम्र के कारण मेरे भाई के लंड छोटे थे. “Bur Me Ungli Dala”

मैं अपने भाई के पास सारे कपड़े उतार दिये मेरे भाई मेरे दुध की चुचियों पर टूट पड़े और मेरे गाल ओठ में चुम्मा करने लगे फिर मेरे भाई मेरे से पूछे दीदी तुझे बूर में उंगली करने की आदत कैसे पड़ गए तोह मैं बोली मम्मी पापा की चुदाई हो रही थीं.

तोह मम्मी की चुदाई की दर्द सुने जिनके बाद से मुझे बूर मे उंगली करनी की आदत पड़ गयी फिर मेरे भाई अपने लंड में तेल लागये और मेरे बूर मे घुसा दिए बूर में लंड घुसते ही मैं दर्द से कराह उठी लेकिन मेरे भाई मेरे दर्द के बाद भी अपने लंड और बूर के अंदर कर रहे थे.

पूरी तरह लंड बूर के अंदर होने के बाद मेरे भाई धक्के देने लगे करीब 20 मिनट तक लगातार चुदाई मेरी हुईं पलंग बहुत जोर से हिल रहे थे फिर दोनो भाई बहन एक साथ झड़ गए मेरी पहली चुदाई से आँख मे आँसू थे लेकिन चेहरे में खुशी भी थी.

अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरीज : ट्रेन में मुझे लगी कामवासना की अग्नि

उनके बाद दोनों भाई बहन अलग अलग पलंग मे सो गए लेकिन एक रात को भाई बहन की चुदाई हो रही थी यही समय मेरी छोटी बहन उठ गई दोनो को चुदाई करते पकड़ लिए मेरी छोटी बहन मेरे से बहुत ज्यादा गुस्सा मे थे.

अब अपनी छोटी बहन को मानने में लगे थे तोह मेरी छोटी बहन बोली कि पिताजी जो तुझे पॉकेट ख़र्च के लिये देते है कुछ तुम दोगी और तीनों भाई बहन एक साथ सोयेंगे और तीनों मिलकर रात को चुदाई करेंगे उनके बाद तीनों भाई बहन हर रात को रंगीन रात किये फिर 2014 में मेरी शादी हो गयी उनके बाद घर मे छोटी बहन और भाई बहुत चुदाई करते हैं खुला साँड़ की तरह बिना डर के.

दोस्तों आपको ये Bur Me Ungli Dala की कहानी मस्त लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और Whatsapp पर शेयर करे………..


Leave a Reply