Kunwari Bur Garam Chudai – एक्स्ट्रा डॉटेड कंडोम लगा कर पेला भांजी को


Kunwari Bur Garam Chudai

मेरा नाम हेमंत है। मेरी उम्र 24 साल है और मैं जयपुर से हूँ। मैं देखने में काफी स्मार्ट दिखता हूँ और 6 फिट लम्बा हूँ। मेरा बदन शेप में है और सुडौल है। मैं रोज जिम जाता हूँ इस वजह से मेरी छाती तनी और उभरी हुई है और मस्त डोले शोले भी बने हुए है। दोस्तों मेरी एक ही कमजोरी है और वो है खूबसूरत और जवान लड़कियाँ। Kunwari Bur Garam Chudai

मस्त मस्त गांड और चूची वाली लड़कियों को देखकर मेरी नियत खराब हो जाती है और लंड खड़ा हो जाता है। चुदाई करने का दिल करने लग जाता है। मेरे रिश्तेदारी में एक दूर की दीदी लगती है। वो मेरे घर आई हुई थी। उनके साथ में उनकी लड़की भी आई थी जिसे देखते ही मैं सब कुछ भूल गया।

उसका नाम सुहाना था। वो अपने बालो को खोलकर तेल लगा रही थी। जब मैंने उसे देखा तो देखता ही रह गया। सीधा अपनी माँ के पास गया और उसके बारे में पूछा तो वो बोली की वो गौरी दीदी की लड़की सुहाना है। उसके बाद तो मुझे बहुत अच्छा लगा।

“हाय!! मेरा नाम हेमंत है!!” मैंने जाकर सुहाना से कहा

“हेलो!! मैं सुहाना!!” वो बोली

उसकी पूरी बोडी मैं ध्यान से देख रहा था। उसने नीली जींस पहनी थी जिसमे उसकी गांड पीछे को निकली हुई कितनी मस्त दिख रही थी। सुहाना का रंग काफी गोरा था और खुले बालो में वो डीवा मॉडल जैसी दिख रही थी। उनसे एक पिंक शर्ट पहन रखी थी जिसमे उसके दूध मस्त मस्त दिख रहे थे।

इसे भी पढ़े – Naukrani Ke Sath Sex Kiya Use Sexy Dress Dekar

अगर 36” के दूध रेडीमेड शर्ट से मुझे साफ़ साफ़ दिख रहे थे जिसकी वजह से शर्ट काफी तनी हुई थी। मैं भी खुसी खुसी सुहाना से बात करने लगा और फिर उसे अपने कमरे में अपना नया टीवी दिखाने ले गया। सुहाना ने मुझे बताया की वो फैशन डिजाईनिंग का कोर्स कर रही है। मैंने उसे बताया की मैं मेडिकल की तयारी कर रहा हूँ।

“सुहाना!! तुम बहुत खुबसूरत हो” मैंने उससे हंसकर कहा तो वो हल्का सा मुस्कुरा दी.

“तुम भी काफी हैंडसम हो!!” वो बोली

फिर दीदी के कमरे में चली गयी। उसे यादकर मैंने लंड को फेट फेटकर मुठ मारी। सुहाना हमारे घर कुछ दिन रहने वाली थी। उसे मुझे कम समय में पटाकर चोदना था और ये काम काफी टफ था। अगले दिन मेरे छोटे भाई का बर्थडे था। शाम को फंक्शन हुआ और सुहाना ने बहुत अच्छा डांस किया। उसने सनी लिओन के गाने “मैं बेबी डोल सोने की” पर डांस किया। फिर फंक्सन खत्म हो गया।

“क्या तुम मेरा डांस देखोगी???” मैंने सुहाना से पूछा.

“हाँ हाँ! बिलकुल” वो बोली.

“आओ मेरे कमरे में” मैंने कहा और उसे हाथ पकड़कर उपर दूसरी मंजिल पर ले गया।

मेरा असल मकसद तो उसे चोदने का था। वैसे तो मैं कम ही डांस करता हूँ पर आज सुहाना को किसी तरह गिअर में लेना था। मैंने उसे रूम में ले जाकर प्रभुदेवा के गाने पर डांस किया जो सुहाना को बहुत पसंद आया। फिर उसे हाथ देकर अपने साथ डांस करने को कहा।

कुछ डांस स्टेप्स हम दोनों ने साथ में किये और मैंने उसकी कमर में हाथ डाल दिया। धीरे धीरे सुहाना मेरे बिलकुल पास आ गयी और मेरे सीने से लग गयी। मैंने भी उसे पकड़ किया और ओंठो पर अपने ओंठ रखकर किस करने लगा।

वो भी चूसने लगी।

“क्या तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड है???” मैंने पूछा.

“क्यों?? तुमने क्यों पूछा??” वो बोली.

“तुम्हारे जैसी सुंदर लड़की खाली कहाँ रहती है। हर खूबसूरत लड़की का बॉयफ्रेंड होता है” मैं बोला.

“मेरा नही है” वो बोली.

“मुझे बनाओगी??” मैंने उसकी आँखों में आँखे डालकर बोला.

“ओके!!” वो बोली.

उसके बाद सब कुछ तेजी से होने लगा। मैंने उसे पकड़ लिया और खड़े खड़े ही उसके ओंठो को चूसने लगा। आज फिर से सुहाना रेडीमेड शर्ट और जींस में थी। उसके 36” की बड़ी बड़ी चूचियों से उसकी शर्ट तनी हुई थी। मैं धीरे धीरे उसके हाथो में अपने हाथ डालने लगा और उसकी उँगलियों में अपनी ऊँगली फंसा दी।

चुदाई की गरम देसी कहानी : Shobha Bhabhi Ke Mosambi Ka Poora Ras Nikal Liya

फिर हम दोनों बेड पर चले गये। सुहाना और मैं दोनों बेड पर बैठ गए और वो सब आराम से करने दे रही थी। कुछ देर उसकी सफ़ेद गोरी उँगलियों से खेलता रहा। फिर उसके गोरे गोरे गालो पर पप्पी लेने लगा। उसने कुछ नही कहा। “लव मी हेमंत!! लव मी!” सुहाना धीरे से बोली। मैं समझ गया की आज ये भी चुदाने के मूड में है।

धीरे धीरे उसे बिस्तर पर लिटा दिया। उसकी आँखे, चेहरा, दूध, गांड, चूत सब मुझे बहुत मस्त दिख रही थी। मैंने उसकी शर्ट पर हाथ रखा दिया और मेरे हाथ उसके 36” के मस्त मस्त दूध पर चले गये। उसकी सुडौल छातियों को मैं सहलाने लगा तो सुहाना “..अहहह्ह्ह्हह स्सीईईईइ….अअअअअ….आहा …हा हा सी सी सी” करने लगी।

मैं उसकी मस्त मस्त चूचियों को दबाने लगा और उसके होठो को फिर से काट काटकर चूसने लगा। मैंने अच्छे से चूस चूसकर उसकी साँसों को पिया और उसे गर्म कर दिया। फिर दोनों हाथो से शर्ट के उपर से उसकी मस्तमौला चूचियों को दबाने लगा। उफ्फ्फ्फ़!! ऐसी भरी भरी चूचियां मैंने आजतक नही दबाई थी। जब उपर से इतना आनन्द आ रहा था तो मुंह में लेकर चूसने में कितना आएया। मैं सोचने लगा।

“बेबी!! अपने दूध तो पिलाओ!! खोलो अपनी शर्ट को!!” मैंने कहा.

सुहाना अपनी शर्ट के बटन खोलने लगी। शर्ट उतार दी। उसके दोनों आम चुस्त गुलाबी ब्रा में कैद थे। मैंने फिर से उसके दूध पर हाथ रख दिया और मसलने लगा। कुछ देर मजा लिया। फिर सुहाना ने अपनी ब्रा खोली।

“आओ हेमंत!! चूस लो मेरी मुसम्मी को!! इतने चिकने दूध तुमको फिर नही पीने को मिलेंगे” सुहाना बोली.

दोस्तों मैं नजरे फाड़कर उसकी मस्त मस्त मुसम्मी हो देखने लगा। कितनी सुंदर, कितनी कोमल खरगोश से दूध थे उसके। जब मैं दोनों सफ़ेद मुसम्मी पर हाथ लगाने लगा तो सुहाना फिर से “……अई…अई….अई……अई….इसस्स्स्स्स्स्स्स्…….उहह्ह्ह्ह…..ओह्ह्ह्हह्ह….”करने लगी।

मैं नाजुक मम्मो को बड़े सम्भाल के पकड़ रहा था। फिर हल्के हाथो से दबाने लगा। सुहाना अपना छोटा सा मुंह खोलकर उंह उंह करने लगी। फिर मैं उसके उपर ही लेट गया और जवान चूचियों को मुंह में लेकर चूसने लगा। मस्ती से पी रहा था। कितना आनन्द आ रहा था। मैं दूध को ताड़ ताड़ कर चूस रहा था।

“हेमंत!! धीरे धीरे चूसो!! दर्द होता है” सुहाना बोली.

मस्तराम की गन्दी चुदाई की कहानी : Boyfriend Sidha Lund Khada Karke Mujhe Dikha Raha

मैं अब धीरे धीरे चूसने लगा। मुंह में भरकर आज दीदी की लौडिया की जवानी का रस चूस रहा था। इस तरह की देसी लौंडिया जल्दी चोदने को मिलती कहाँ है। मैं सोचने लगा। ये कहो की डांस करके इसको किसी तरह पटा लिया। मैं सुहाना के दोनों स्तनों को हाथ से मसल मसल कर रस निकाल निकाल कर चूस रहा था। “Kunwari Bur Garam Chudai”

मुंह चला चलाकर चूस रहा था। इस दौरान वो पुरे वक़्त “अई…..अई….अई… अहह्ह्ह्हह…..सी सी सी सी….हा हा हा…” करती रही। उसे भी बराबर मजा मिल रहा था। मैं अपने हाथो से मसल मसल कर सब रस निकाल दिया। अब सुहाना के सेक्सी गुलाबी होठो को देखकर लंड चुसाने का दिल करने लगा। मैंने उसी वक़्त अपनी जींस उतारी और नंगा हो गया। सुहाना के उपर उसके सीने पर जाकर बैठ गया।

“लो बेबी!! चूस डालो!! देखो मेरे पप्पू को नाराज मत करना। अगर इसे खुश कर दिया तो बहुत मजा मिलेगा तुमको!!” मैंने सुहाना से कहा.

सुहाना ने मेरे लंड को पकड़ लिया। दोस्तों मेरे लंड की लम्बाई 8” की है और 2” मोटा है ये। रोज जिम जाने की वजह से लौड़ा और मोटा हो गया है। सुहाना जब इसे हाथ में लेकर फेटने लगी तो लंड खड़ा होने लगा। “आऊ…..आऊ….हमममम अहह्ह्ह्हह…सी सी सी सी..हा हा हा—फेटो जान!! इस हरामी लंड को और फेटो!!” मैं उससे कहने लगा।

फिर सुहाना भी पुरे जोश में आ गयी और किसी छिनाल की तरह जल्दी जल्दी मेरे लौड़े को फेटने लगी। फिर मैं उसके मुंह में लौड़ा घुसा दिया। सुहाना लेटे लेटे मेरा लौड़ा चूसने लगी। वो कही भाग भी नही सकती थी। क्यूंकि उसके सीने पर दूध के नीचे मैं बैठा हुआ था। अब सुहाना खुलकर चूसने लगी।

पहले मेरे लंड के चमकते गुलाबी सुपारे को किस किया, फिर मुंह में अंदर ले ली। अब चूसने लगी। लंड को जड़ तक मुंह में लेकर चूसने लगी तो मुझे अद्भुत आनन्द की प्राप्ति होने लगी। आज 18 साल की जवान लौडियां से लंड चूसा रहा था। खूब अच्छे से चुसवा रहा था।

“यस बेबी!! और चूसो इस लंड को!!” मैं कहने लगा और सुहाना के सिर को पकड़कर उसके मुंह में लंड डालने लगा।

अब उसके मुंह को जल्दी जल्दी लंड से चोदने लगा। सुहाना को भी परम सुख मिल गया। खूब आनन्द मिल गया। उसने काफी देर लंड चुस्व्व्ल किया।

“ओह्ह हेमंत!! अब देर मत करो!! जल्दी से चोद दो मुझे!!” सुहाना पलके झपकाकर कहने लगी.

सुहाना अपनी जींस की बटन खोलने लगी। फिर अपनी गुलाबी पेंटी उतार दी। उसकी चूत मैंने देखी। बिलकुल भरी हुई गुलाबी चूत। हल्की हल्की झांटे थी पर जादा नही थी। मैं झुक गया और पास से सुहाना की बुर का दीदार करने लगा। कुछ देर तक उसकी चूत की खूबसूरती को निहार रहा था। “Kunwari Bur Garam Chudai”

इतनी देर से उसके साथ जो मजे लूट रहा था इस वजह से सुहाना की चूत अपना घी/ मक्खन छोड़ रही थी। मैंने उसकी चूत में ऊँगली डाली और घी को लेकर मुंह में लेकर चाटने लगा। सुहाना की भोसड़ी का मक्खन नमकीन था। फिर मैंने ऐसा २ ३ बार किया।

अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरीज : Bhai Ko Chudai Ka Practical Karaya Apni Wife Ke Sath

अब मुझे ये घी का कटोरा पूरा पीना था इसलिए मैं झुक गया और मुंह लगाकर उसके गुलाबी भोसड़े को चाटने लगा। सुहाना “….उंह उंह उंह हूँ.. हूँ… हूँ..हमममम अहह्ह्ह्हह..अई…अई…अई…..” करने लगी। “और चाटो हेमंत!! आज इस चूत को मजे लेकर पी जाओ!!” वो भी यौन उत्तेजित होकर कहने लगी। उसकी गर्म गर्म आवाजे सुनकर मैं पूरे जोश में आ गया और जल्दी जल्दी उसकी चूत का घी चाटने लगा।

कुछ ही देर में सुहाना बहुत गरमा गयी और उसकी बुर किसी आग की भट्टी की तरह दहक रही थी। मैं उसकी चूत में जुगाड़ करके 2 ऊँगली घुसा दी और जल्दी जल्दी फेटने लगा। अब वो सुहाना का बुरा हाल हो गया। उसकी चूत को मैंने काफी देर तक फेटा और ताजा मक्खन मेरी उँगलियों में सब गया।

“ले चूस अपने रस को!! मैंने सुहाना से बोला.

वो अपना माल चाट गयी। उसी वक़्त मैं अपने 8” के मोटे लंड को मुठ देने लगा और खड़ा करने लगा। 2 मिनट लंड पर मुठ दी और लंड लोहे जैसा कड़ा हो गया। मैंने एक्स्ट्रा डॉटेड कंडोम अलमारी से निकाला और लौड़े पर चढ़ा लिया। दोस्तों इस कंडोम में 100 से भी जादा डॉट्स थे।

अब मैं लंड के टोपे से सुहाना की चूत को रगड़ने लगा। वो “उ उ उ उ उ……अअअअअ आआआआ… सी सी सी सी….. ऊँ…ऊँ…ऊँ….” करने लगी। “करो और करो!! अच्छा लग रहा है हेमंत!!’ सुहाना कहने लगी मैं रगड़ता चला गया। मेरे लंड के सुपारे पर भी एक्स्ट्रा डॉट्स थे जिस वजह से उसे बड़ा आनन्द मिल रहा था।

मैंने 5 6 मिनट सुहाना की चूत को रगड़ा फिर लंड अंदर घुसा दिया। “आई!!” वो चीख पड़ी। मैंने चुदाई शुरू कर दी। सुहाना सिसियाने लगी। कराह रही थी और आहे ले रही थी। मैं लंड को उसके छेद में दौड़ाना शुरू कर दिया। अपने चूतड़ उठा उठाकर उसकी चूत का भर्ता बनाने लगा। सुहाना “ हूँउउउ हूँउउउ हूँउउउ ….ऊँ—ऊँ…ऊँ सी सी सी सी… हा हा हा.. ओ हो हो….” करने लगी। “Kunwari Bur Garam Chudai”

उसकी आवाजे और सिसकियाँ मुझे और जोश दिलवा रही थी। मैं जल्दी जल्दी पेलने लगा और दोनों मजे लुटने लगे। फिर सुहाना ने दोनों पैरो को और खोल दिया और सेक्स करने लगी। मैं ऊँगली से उसके चूत के दाने को हिलाने लगा। ऐसा करने से उसे काफी जोश चढ़ रहा था।

मैं धक्के पर धक्के लगा रहा था। सुहाना सी सी कर रही थी। मैंने उसकी 10 मिनट पेला। फिर लगा की स्खलित हो जाउंगा। मैंने जल्दी से लंड बाहर निकाल लिया। फिर उसके दोनों 36” के दूध को हाथ से दबाने लगा। अब मुझे अपना ध्यान कुछ पल के लिए चुदाई से हटा देना था इसलिए मैं दूध पर चला गया।

हाथ से उसकी निपल्स को छूने और दबाने लगा। सुहाना चुदासी होकर “……मम्मी…मम्मी…..सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ. .ऊँ…ऊँ…उनहूँ उनहूँ..” करने लगी। मैं उसकी मस्त मस्त निपल्स से खेलने लगा।

उसके चूचे जितने सफ़ेद थे उसकी निपल्स और चूचक उसके काले थे और बड़े बड़े काले गोले वाले थे। ऐसी रसीली चूचियां तो किसी भी मर्द का कत्ल करने के लिए पर्याप्त है। मैं दोनों हाथ से दूध को दबाने लगा। फिर से मुंह में लेकर चूसने लगा। कुछ देर चूसकर आनन्द लिया।

“चलो जान!! घोड़ी बनो!! अब तेरी गांड फाडूगा” मैंने कहा.

सुहाना दोनों हाथो पर घोड़ी बन गयी।

कामुकता हिंदी सेक्स स्टोरी : दीदी के बड़े बड़े झूलते दूध दबा दिया मैंने

उसकी चूत को मैंने पीछे से कुछ देर फिर से चाट चाटकर उसे गर्म किया। फिर उसके सेक्सी पुट्ठो पर हाथ लगाने लगा। ओह्ह!! कितने मस्त मस्त हिलते चूतड़ थे सुहाना के। मैं तो धन्य हो गया ऐसे मस्त लड़की पाकर। अपने हाथो को सुहाना के मस्त मस्त चूतड़ पर घुमा रहा था और आनन्द ले रहा था। फिर किस करने लगा। “Kunwari Bur Garam Chudai”

उसके चूतड़ पर हाथ घुमा घुमाकर मजा ले रहा था और ओंठो से किस कर रहा था। उसके चूतड़ को मैंने खोल दिया तो कुवारी गांड का भूरा छेद मुझे दिख गया। मेरे लंड को अब इसी में घुसना था। मैं जीभ लगाकर सुहाना की गांड को चाटने लगा। फिर से वो कसमसाने लगी। “आआआअह्हह्हह…..ईईईईईईई….ओह्ह्ह्….अई. .अई..अई…..अई..मम्मी….” करने लगी।

मैंने चाट चाटकर उसकी गांड को गर्म किया। फिर अपने 8” लौड़े को फिर से मुठ देने लगा। जब उसकी गांड में लंड डालने लगा तो अंदर ही नही जा रहा था। फिर मैंने ऊँगली में थूक लेकर सुहाना की सेक्सी कुवारी गांड पर लगा दिया और अपने लंड के टोपे पर लगा दिया। फिर घुसाने लगा तो लंड 2” अंदर घुस गया। सुहाना अई..अई. .अई… उ उ उ उ उ…करने लगी। मैंने कुछ धक्के और दिए तो लंड पूरा 8” जड़ तक उसकी गांड में दफन हो गया। दर्द से सुहाना का बुरा हाल था।

मैंने धीरे धीरे उसकी गांड मारना शुरू कर दी। “लगती है हेमंत ओहह्ह्ह…ओह्ह्ह्ह…अह्हह्हह… वो कहने लगी। पर मैं अपने कामे में लगा रहा और गांड चुदाई करता रहा। काफी देर तक उसे मैंने दर्द दिया फिर गांड में ही झड़ गया। जब मैंने अपना लौड़ा निकाला तो सफ़ेद क्रीम से सुहाना की भूरी रंग की गांड भरी हुई थी और माल बाहर टपक निकल रहा था। उसके एक दिन हफ्ते तक मेरी दीदी की लड़की सुहाना मुझे चुदवाती रही। उसके जैसी सेक्सी खूबसूरत लड़की आजतक नही चोदी मैंने।

दोस्तों आपको ये Kunwari Bur Garam Chudai की कहानी मस्त लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और Whatsapp पर शेयर करे………..

Leave a Reply