Maa Apn Chut Shant Kar Rahi Thi Mera Naam Lekar 2 – Crazy Sex Story


Maa Apn Chut Shant Kar Rahi Thi Mera Naam Lekar 2

Maa Behan Ke Sath Threesome Chudai दोस्तो मैं हर्ष स्वागत करता हूं आप सभी का मेरी एक और रियल सेक्स स्टोरी में पिछले भाग Maa Apni Chut Shant Kar Rahi Thi Mera Naam Lekar 1 में आपने जाना की कैसे मेरा आकर्षण मेरी मां के तरफ हुआ. फिर मुझे पता चला मां भी मेरे लंड कि प्यासी है और मैंने किस तरह मां की चुदाई करके उनको संभोग सुख का दिया। दोस्तो हमारी ज़िन्दगी ठीक चल रही थी मैं और मां अपनी सेक्स लाइफ से बहुत खुश थे और रोज चुदाई करते थे और ज़िन्दगी के मज़े लेते थे. Maa Apn Chut Shant Kar Rahi Thi Mera Naam Lekar 2.

दोस्तो पिछले भाग में मैंने आपको बताया था कि मेरी एक बहन है जो कि हॉस्टल में रहती थी आज की कहानी उसी के साथ की है कि कैसे वासना के वश में होकर मेरी और मेरी बहन की चुदाई हुई। दोस्तो आप सभी को पता है कि फिलहाल इस वक़्त देश कोरोना वायरस का प्रकोप है और कुछ दिनों पहले तक देश में संपूर्ण लॉकडाउन था. इसी वजह से जब हॉस्टल खाली होने लगे तो मेरी बहन घर आना चाहती थी.

लेकिन बदकिस्मती से सारे आवागमन के साधन बंद हो गए और हमारा एरिया रेड ज़ोन में था. अब मेरी बहन काफी परेशान हो गई और किसी तरह घर आना चाहती थी हमने किसी तरह उसे अपने एक रिश्तेदार के यहां रुकवाया. और जैसे ही स्थिति सामान्य होती उसे बुलाने का वादा किया तो वो वहीं रहने लगी. यहां हम मां बेटे अपनी वासना की दुनिया में मगन थे एक रात जब मैं अपनी मां को चोद रहा था.

मस्त हिंदी सेक्स स्टोरी : Maa Madak Tarike Se Muskura Kar Blouse Kholne Lagi

तब मेरी बहन का फोन आया और उसने कहा कि अब वहां स्थिति सामान्य है और वो कल आ जाएगी. ये सुन कर मैं थोड़ा उदास हो गया क्यूंकि अब मेरी बहन आने वाली थी। दोस्तों मैं अपनी बहन का नाम बताना तो भूल ही गया मेरी बहन का नाम रागिनी (बदला हुआ ) है. उसकी उम्र 18 साल है और वो अपनी मां की तरह गोरे रंग की है और उसका फिगर माशाल्लाह क्या बोलूं.

जब वो चलती है उसके चूतड़ काफी बाउंस होते हैं उसकी पतली कमर नशीली आंखें और गुलाबी होंठ आए हाय. फिलहाल वो इस समय अपनी बारहवीं की परीक्षा पास की थी और उसके अंक भी अच्छे थे तो हम काफी खुश थे. फिर अगले दिन रागिनी दोपहर के समय घर पहुंची मैंने देखा रागिनी काफी बड़ी हो गई थी और रंग में भी निखार आया था. फिर वो फ्रेश होकर सबसे पहले मेरे गले मिली क्यूंकि वो मेरा बहुत सम्मान करती थी.

और हम दोनों भाई बहन से ज्यादा बेस्ट फ्रेंड्स थे लेकिन जैसे ही उसने मुझे गले लगाया मुझे ज़ोर का झटका लगा क्यूंकि अब मैं बड़ा हो चुका था. मैंने उसके स्तन अपनी छाती पर महसूस किए पर जबकि वो मेरी बहन है. इसीलिए मैंने अपने मन में गलत विचार नहीं आने दिए और इस खयाल को मन से निकाल दिया. फिर हमारी बातें होने लगी और बातें करते करते रागिनी मेरे कंधे पर सिर रख कर सो गई.

में भी उसके बालों पर हाथ फेरने लगा लेकिन उस वक़्त मेरे मन में कोई बुरे विचार नहीं थे फिर मैं मां के कमरे में चला गया उनसे बातें करने के लिए। शाम को जब रागिनी उठीं तो वो काफी फ्रेश थी. और उठते ही वो मां के पास गई और उसने बातें करने लगी वो काफी खुश दिख रही थी. फिर हम सबने रात का खाना खाया और वो मुझसे बातचीत करने लगी उसने मुझसे पूछ क्या बात है भाई मां आजकल काफी खुश रहती हैं?

चुदाई की गरम देसी कहानी : Maa Ki Bra Par Sara Maal Jhad Diya Maine

तो जब ये प्रश्न मैंने सुना तो थोड़ा डर गया पर फिर बोला हां मां पहले काफी परेशान रहती थी. फिर मैंने उन्हें काफी समझाया उनके फीलिंग्स को समझा और उनकी हर बात में साथ दिया इसीलिए मां खुश है. ये सुन कर मेरी बहन बोली थैंक्स भैया आप मां का खयाल रखते हो नहीं तो पहले में भी उदास रहती थी. लेकिन अब मुझे सुकून मिला और मुझे गले लगा लिया इस बार मैंने भी उसे गले लगा लिया.

वो थोड़ी भावुक थी फिर हम सब सोने आ गए, मैंने देखा रागिनी सोते वक़्त एक हाफ लोअर और एक छोटी सी शर्ट पहन कर सोने जा रही थी. मैंने देखा उसमे उसकी चिकनी सुंदर जांघें दिख रही थी, और उसके चूतड़ काफी बलखा रहे थे और काफी बाउंस हो रहे थे. एक बार फिर मेरे मन में रागिनी के लिए गंदे विचार उठे पर मैंने उन्हें दबा दिया और सोने आए. हम मां के कमरे में सो रहे थे सबसे किनारे में बीच में मां और फिर रागिनी.

दोस्तों आज मैं काफी थका हुआ था सो जल्दी है मेरी आंख लग गई. फिर और में सो गया चूंकि कमरे में एसी चल रहा था देर रात ठंडक महसूस होने पे मैं जगा तो देखा मां मेरी तरफ करवट लेके सोई हुई थीं और रागिनी बगल में सो रही थी. सोते वक़्त वो काफी सुंदर लग रही थी और उसका शरीर चमक रहा था. फिर मैं मां के बगल आके लेट गया और धीरे धीरे उनकी चूत सहलाने लगा.

क्यूंकि अब रागिनी यहां थी सो हमारा सेक्स करना असंभव सा था अब मां जाग गई. और मेरे करीब आते हुए बोली बेटा थोड़ा सब्र करो रागिनी जाग जाएगी और मेरा लंड सहलाने लगी. लेकिन मैंने नहीं सुना और धीरे से उन्हें अपने ऊपर ले लिया और किस करने लगा. तो मां ने रुकते हुए कहा नहीं यहां नहीं चलो अपने कमरे में हम दोनों धीरे से उठे और कमरे में चले गए.

वहां पहुंचते ही मैंने मां को बेतहाशा चूमना शुरु कर दिया मां ने आज साड़ी पहनी थी और गजब सेक्सी लग रही थी. फिर मैंने मां को चूमते हुए उनकी मखमली चूत सहलाने लगा लेकिन मां ने मुझे रोकते हुए कहा बेटा जल्दी करो वरना रागिनी ये सब जान जाएगी और दिक्कत हो जाएगी. फिर मैंने तुरंत मां की साड़ी ऊपर की और अपना लंड निकाल के उनकी चूत पे फिक्स करने लगा.

मदहोशी में मैं ये भूल गया था कि मैंने दरवाज़े की कुंडी नहीं लगाई और रागिनी आ सकती है. में जल्दी जल्दी मां को चोदने लगा और मां हल्के हल्के आहें भरने लगी. दोस्तों मैं मां को घोड़ी बना के चोद रहा था और सच बताऊं ऐसे चोदने में बड़ा मज़ा आ रहा था. मां के मोटे स्तन तेज़ी से ब्लाउज के अंदर उछल रहे थे और बाहर आने को बेताब थे मैंने एक हाथ से उनका स्तन पकड़ा और दबाने लगा.

मस्तराम की गन्दी चुदाई की कहानी : Train Mein Choda Bahan Ki Bur Uski Marji Se

मां की आहें तेज हो गई पर उन्होंने सब्र रखा फिर लगभग 15 मिनट्स चुदाई के बाद मैंने सारा माल मां के चूत के ऊपर गिर दिया और उनके होंठ चूमने लगा. फिर हम जल्दी से अपने कमरे में आ गए देखा रागिनी सो रही थी. मैंने एक प्यार भरी निगाह उसपे डाली और सो गया। सुबह सब सामान्य था और रागिनी को कुछ पता नहीं चला मैंने भगवान का शुक्रिया किया और हम अपने कामों में जुट गए.

फिर जब शाम को में छत पर गया तो देखा वहां रागिनी पहले से थी और ढलते सूर्य को निहार रही थी. दोस्तों आज उसने के डीप गले का टॉप और मिनी स्कर्ट पहनी थी और उस समय लाजवाब लग रही थी. मैं उसके बगल में खड़ा हो गया और मोबाइल चलाने लगा फिर मैं उससे बातें करने लगा. फिर बातो ही बातो में उसने तोप के गोले जैसा सवाल मेरे ऊपर दागा, उसने पूछा कल रात आप और मां बगल वाले कमरे में क्या कर रहे थे और ये आहों की आवाज़ कैसे आ रही थी?

ये सुनते ही जैसे सातवें आसमान से गिरा और हड़बड़ाहट में मेरा मोबाइल हाथ से छूट गया मेरे पसीने छूट गए और सोचा कैसे इसे सब बताऊं. तभी उसने एक और सवाल दागा क्या आपको शर्म नहीं आती अपनी मां के साथ सेक्स करते हुए. मेरी ज़ुबान हलक में अटक गई फिर मैंने सोचा मैं बेवजह डर रहा हूं और मैंने कोई गलत काम नहीं किया है. फिर मैंने हिम्मत करते हुए उससे कहा देखो रागिनी तुम पूरी बात नहीं जानती और समझ नहीं रही हो.

ये बात मैंने थोड़े आक्रोश और रहस्यमई आवाज़ में बोला. वो मुझे घूरने लगी और गुस्से से बोली मैं क्या नहीं समझ रही हूं. फिर मैंने उसे शुरू से सब बताया कि कैसे पापा के जाने के बाद मां उदास रहने लगी उनकी परेशानी क्या थी. और मैंने उसे बताया कैसे वो चूत में उंगली करके खुद को शांत करती थी. फिर मैंने ये भी बताया कैसे मुझे मां को दुखी देखकर दुख होता था और मैंने ये निश्चय किया.

ये सुनकर रागिनी थोड़ा शांत हुई पर गुस्से से बोली लेकिन तुम अपनी मां के साथ ऐसे कैसे कर सकते हो? मैंने रागिनी को बताया कि ये हम दोनों की सहमति से हुआ है तो वो शांत हो गई. फिर मैंने अपना ब्रह्मास्त्र चलाया मैंने कहा क्या तुम यहीं चाहती थी कि मां अपनी प्यास दूसरों से बुझवाए और हमारी बदनामी हो. हैं ना इसी से बचने के लिए मैंने घर की बात घर में रखने की सोची.

ये सुनकर वो सोच में पड़ गई फिर बोली हां भाई तू बोल तो सही रहा है लेकिन…… मैंने कहा लेकिन वेकिन कुछ नहीं और ये बात बाहर नहीं जानी चाहिए. मैंने ये बात आदेशात्मक लहजे में कही और रागिनी ने हां में सिर हिला दिया. फिर रागिनी ने कहा कि भैया मुझे आपकी और मम्मी की चुदाई देखनी है. में ये सुन कर दंग रह गया और कहा तू पागल तो नहीं हो गई है?

चूत का पानी निकाल देने वाली कहानी : Bahan Ki Pyasi Saheliyo Ko Apna Lund De Diya

फिर उसने बताया कि कैसे वो जब 8 साल की थी उसने मां पापा की चुदाई देखी थी. और बताया मुझे आज भी याद है मां तेज तेज आहें भर रही थी फिर वो मेरा हाथ पकड़ी और कहने लगी भैया प्लीज़ एक बार. तो मैंने कहा ठीक है आज रात तू सोना मत हम लोग 2 बजे सेक्स करते हैं. फिर हम नीचे आ गए और सामान्य व्यहवार करने लगे आज मां ने डीप कट मैक्सी पहनी थी और मैक्सी बैकलेस थी. “Maa Apn Chut Shant”

मां की गोरी पीठ साफ दिख रही थी मैंने ध्यान दिया मां ने ब्रा नहीं पहनी थी. तो वो जब भी झुकती में उनके चूचे घूरता मैंने देखा मेरी बहन ये करते हुए मुझे घूरती रहती और कातिलाना अंदाज़ में मुस्करा देती। फिर रात हुई जैसा हमने प्लान किया था कि रागिनी सोने का नाटक करेगी फिर वो हमारी चुदाई देखेगी. मेरे शैतानी दिमाग में एक तरकीब अाई की क्यूं ना आज वायग्रा खा के सेक्स किया जाए.

जिससे बहन के ऊपर मेरा प्रभाव बढ़े और मैं उसकी सीलपैक चूत चोद पाऊं क्यूंकि अब मेरी हवसी निगाहें मेरी बहन पर टिकी थी. यह सोच मैंने वायग्रा खरीदा और रात का इंतज़ार करने लगा. फिर जब रात में सब सोने आए रागिनी ने धीरे से मेरे कान में कहा मां की अच्छी चुदाई करना ताकि मुझे देखने में मजा आए और बेशर्मी से हंस दी. में थोड़ा शरमा गया फिर मैंने वायग्रा खा लिया और लेट गया.

आज भी मां मेरे बगल में लेटी थी और वो मेरी तरफ करवट करके लेटी थी. फिर धीरे धीरे 2 बज गए और वायग्रा ने असर करना शुरू कर दिया, मैंने मां को अपनी तरफ खींचा और उनकी गांड दबाने लगा. थोड़ी देर में मां जाग गई तो मैंने उन्हें अपने ऊपर खींचा और उनकी गांड मसलने लगा और होंठ चूमने लगा. मां ने कहा आज बड़े जोश में हो बेटा क्या बात है मैंने कहा मां आप इतनी सेक्सी हो ही की लगातार चोदने का मन करता है.

ये सन मां शरमा गईं फिर बोली हट बदमाश और एक किस कर दी गाल पे. मैंने देखा रागिनी अधखुली आंखों से अपनी देवी समान मां को अपने ही बेटे से चुदवाते हुए देख ये रही थी और मुस्कुरा रही थी। फिर मैं मां को दूसरे कमरे में लेके गया और इशारे से रागिनी को आने को कहा और आके दरवाज़ा बंद कर दिया ताकि मां को शक ना हो. फिर मैंने खिड़की बंद करने गया और हल्का सा खुला छोड़ दिया. “Maa Apn Chut Shant”

ताकि रागिनी सब साफ़ साफ़ देख पाए और कमरे में रोशनी कर दी फिर मैंने देखा रागिनी वहां खड़ी थी और चुदाई का इंतजार कर रही थी. इधर मैंने मां को बाहों में लिया और एक लंबा लिप किस दिया. इससे मां मदहोश हो गई और मुझे स्मूच करने लगी फिर मैंने मां को बिस्तर पर लेटाया और उनकी नाइटी उतार कर फेंक दी. और ज़ोर ज़ोर से मां के दूध दबाने लगा मां ने प्यार से मेरे जिस्म पर हाथ फेरते हुए कहा आज तो बहुत जोश आ गया है तुझमें बेटा और आहें भरने लगी.

मैंने देखा रागिनी बड़े ध्यान से हमारी काम क्रीड़ा देख रही थी और अपने बूब्स मसल रही थी. फिर मैंने मां का पेट चूमना शुरू किया और धीरे धीरे उनकी चूत तक पहुंच गया. मां ने एक झीनी सी पैंटी पहन रखी थी जिसमे मां एकदम माल लग रही थी. फिर मैंने पैंटी उतारी और मां के बगल में लेट के उनकी चूत में उंगली करने लगा मां की सांसें तेज़ होने लगी. फिर मैंने मां की दाईं चूची पकड़ी और चूसने लगा.

अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरीज : Sex Ki Pyas Bujhane Ka Jabardast Intejam Kiya Maine

मैंने मुंह उठा के देखा तो रागिनी बड़े ध्यान से ये सब होते देख रही थी और होंठ काट रही थी. फिर मैंने मां की चूची चूसते हुए उन्हें किस करने लगा थोड़ी देर बाद मैंने मां को बैठाया और अपना साढ़े छह इंच का लंड मां के मुंह के आगे करके उन्हें चूसने को बोला. मां घुटनों के बल होके मेरा लंड चूसने लगी मैंने देखा रागिनी मेरे लंड इतने लंबे लंड को देख कर चौंक गई और मुस्करा के मेरी तरफ देखने लगी.

और अपने हाथ के इशारों से बताया मेरा लंड काफी अच्छा है मैं ये देख शरमा गया और आंखे नीची कर लीं. फिर मैंने धीरे धीरे मां के मुंह में धक्के देना शुरू किया आज मां एकदम किसी रंडी की तरह मेरा पूरा लंड गले तक लेके ज़ोर ज़ोर से झटके मार रहीं थीं. मेरी आहें निकलने लगी मैंने कहा आह मां धीरे आह उफ्फ और ज़ोर ज़ोर से धक्के देने लगा. फिर मां ने कहा बेटा और ना तड़पा अब चोद भी दे. “Maa Apn Chut Shant”

फिर मैंने मां को मिशनरी पोजिशन में किया और धीरे से अपना लंड मां की चूत पे घिसने लगा और मां आहें भरने लगी. फिर मैंने ज़ोर से एक साथ पूरा लंड मां की चूत में घुसा दिया और मां की ज़ोर से चीख निकल गई आह्हअहआह्ह. मैंने जल्दी से उनके मुंह पे हाथ रख दिया मैंने देखा रागिनी ये सब देख के चकित थी शायद उसे मालूम हो गया मेरा लंड कितना शक्तिशाली है.

फिर मैंने काफी स्पीड से शॉट मारने लगा मां लगातार सिसकारियां ले रही थी और उनका शरीर बुरी तरह हिल रहा था. और उनके तेज़ी से बाउंस कर रहे थे मैंने उनके दोनों रूई जैसे स्तनों को पकड़ा और तेज तेज धक्के मारने लगा. पूरे कमरे में बिस्तर की चर चर्र और चप चप की आवाज़ें आ रही थी. मां इसिबीच 1 बार झड़ गई मैंने सिर उठा के देखा रागिनी के चहरे पे वासना झलक रही थी और वो बुरी तरह अपने मम्मे मसल रही थी.

इस पोजिशन में पांच मिनट चोदने के बाद मैंने मां की चूत में मुंह लगा दिया और चाटने लगा. फिर मैंने मां को घोड़ी बनाया और अपना लंड उनकी चूत में डाल के ज़ोर ज़ोर से धक्के मारने लगा. मां बेतहाशा सिसकियां ले रही थी और उनके दोनों रसीले स्तन ज़ोर ज़ोर से उछल रहे थे. फिर मैंने उनके स्तनों को पकड़ा और उनके ऊपर चढ़ कर चोदने लगा इस घमासान चुदाई से मां का बुरा हाल था.

और मां फिर एक बार झड़ गई फिर कुछ शॉट मारने के पश्चात मैंने मां को अपने लंड पे बैठाया और नीचे से सटा सट उनकी चूत में लंड देने लगा. फिर लगभग 10 मिनट्स चुदाई के बाद जब मेरा होने वाला था तो मैंने मां के स्तनों को कस कर दबोच लिया. और उन्हें अपने ऊपर झुका लिया और घोड़े की तरह शॉट मरते हुए कहा आह्ह मां मैं आया और चार पांच धक्कों के बाद उनकी चूत में ढेर सारा वीर्य भर दिया. “Maa Apn Chut Shant”

मां मेरे ऊपर निढाल हो गई और मेरे होंठ चूमते हुए बोली बेटा आज तूने मेरी जो चुदाई की है मज़ा आ गया पूरी ज़िन्दगी मैं ऐसे नहीं चुदी. और मुझसे लिपट गई फिर मैंने मां को उठाते हुए कहा मां जल्दी चलो नहीं तो रागिनी को शक हो जाएगा. फिर वो कपड़े पहनने लगी फिर मैंने रागिनी को इशारा किया और वो जल्दी से कमरे में पहुंच कर सोने की एक्टिंग करने लगी.

हम दोनों बाहों में बाहें डाले अंदर आए और को ये शक भी नहीं हुआ की रागिनी ने हमारी चुदाई देखी है. फिर मां घमासान चुदाई के कारण थकी हुई थी सो वो सो गईं. मैंने देखा रागिनी अधखुली आंखों से मुझे देख रही थी और हाथ से बाहर आने का इशारा कर रही थी. जब मैं बाहर गया तो वो मुझे कोने में ले जाके बोली वाह भैया आप तो बड़े खिलाड़ी निकले और में तो फैंन हो गई आपकी.

और मेरे लंड कि तरफ इशारा किया फिर मुझसे बोली मां की चुदाई देख कर मज़ा आ गया और मुझे गले लगा लिया. इस बार मैंने उसे कस कर बाहों में जकड़ लिया तो उसने शरारती अंदाज़ में कहा क्या मां से मन नहीं भरा और हंसने लगी. फिर मैंने उससे बोला एक बात बोलूं उसने कहा हां बोलो तो मैंने कहा रागिनी तुम ना बहुत सेक्सी हो मैं तुम्हारे साथ सेक्स करना चाहता हूं.

कामुकता हिंदी सेक्स स्टोरी : Barish Me Ghodi Bana Kar Devar Ne Gand Me Lund

ये सुन जैसे वो सातवें आसमान पर पहुंच गई और बोली भैया आपने मेरी मुह की बात छीन ली. मैंने कहा क्या तुम मुझे पसंद करती थी उसने मेरी बाहों में बाहें डालते हुए कहा हां भैया जब में 16 साल की थी. तभी से आप मुझे पसंद हो में आपके साथ सेक्स करने के सपने देखती इसीलिए तो में आपके साथ इतनी खुली हुई हूं पर आप आज समझे. “Maa Apn Chut Shant”

ये सुन मैं शरारती लहजे में बोला तुझे शर्म नहीं आती अपने भाई पे नज़र डालते हुए. उसने हंस कर कहा जिसका भाई इतना मादरचोद हो तो उसपे नजर डालना क्या बुरी बात और मुझसे लिपट गई. फिर उसने मेरे होंठो को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया में भी उसका साथ देने लगा. फिर कुछ देर बाद मैं होश में आया और कहा रागिनी नहीं अभी ये सही नहीं है हम कल करते हैं.

तो उसने कहा जैसे तेरी मर्ज़ी और मेरा लंड दबा दिया और कहा मुझे आपके और मां के साथ थ्रीसम करना है. मैंने कहा ठीक है थोड़ा सोचना पड़ेगा और फिर हम सोने चले गए। अगले भाग में आपको पता चलेगा कैसे मैंने अपनी बहन को चोदा और हमने कैसे थ्रीसम सेक्स का आनंद उठाया। तब तक अपनी मां के नाम की मुठ मरते रहिए। अलविदा.

दोस्तों आपको ये Maa Apn Chut Shant Kar Rahi Thi Mera Naam Lekar 2 कहानी मस्त लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और Whatsapp पर शेयर करे………….

Leave a Reply