Naukar Porn – नौकर का लम्बा लंड देखने लिए उसके सामने नंगी हुई 1


Naukar Porn

मेरा नाम रानो है उमर चालीस साल कद पांच फुट सात इंच रंग गोरा कद बडे़ बडे़ स्तन पतली कमर चौड़ी गांड उभरे हुए नितम्ब मांसल जांगें और चूत पर बड़ी बड़ी काली झांटें हैं। जो मुझे और मेरे पति को बहुत पसंद हैं। मेरे पति रंजीत उमर में मुझ से दो साल बडे़ हैं उनका रंग भी गोरा है कद छे फुट थोड़े पतले पर स्मार्ट और सैक्सी हैं। Naukar Porn

उन्होंने बहुत सी लड़कियों और औरतों को चोदा है और बह मुझ से बहुत प्यार करते हैं और मेरे साथ नये नये तरीके से सैक्स करके मुझे मजा देते हैं। बह नयी नयी सीडी ला कर मुझे पोर्न फिल्में दिखा कर गरम करके भी चोदते हैं। मेरे पति का लंड भी बहुत सुंदर है जब वह खड़ा होता है तो लोहे जैसा सख्त हो जाता है।

बह अपनी कोई भी बात मुझ से छुपाते नहीं है। उनके शौक भी निराले हैं जैसे खूबसूरत औरतों पे लाईन मारना शिकार खेलना घुड़सवारी करना. जिसके लिए उन्होंने काले रंग का एक खूबसूरत कुत्ता जिसका नाम टोमी है और लाल रंग की एक खूबसूरत घोडी़ भी रक्खी हुई है, जिस को कभी कभी चोद भी लेते हैं और कहते हैं कि चुदाई में घोडी़ औरत से भी ज्यादा मजा देती है।

पर टोमी की मेरे साथ बहुत दोस्ती है बह मेरी हर बात मानता है और मेरे पति के साथ सिर्फ शिकार करने जाता है. पर टोमी को हमने एक गलत आदत डाल दी है कि हम जब भी सैक्स करने लगते हैं तो उस को स्मैल आ जाती है. और और बीच में मुंह घुसाने की कोशिश करने लगता है और मेरी चूत में से निकलते हुए पानी को चाटता है.

और जब हम दोनों झड जाते हैं तो मेरे पति के लंड और मेरी चूत को चाट चाट कर साफ़ कर देता है। मेरे पति एक इंश्योरेंस कंपनी में फील्ड ऑफिसर हैं और खेतीबाडी भी करते हैं क्योंकि हमारी जमीन भी काफ़ी है, इसलिए हमने अपना घर अपने खेतों में ही बनाया हुआ है। घर के चारों ओर फलदार पेड़ हैं अपना ट्यूववैल है पशुओं का तवेला है.

मस्त हिंदी सेक्स स्टोरी : Do Jawan Dil Mile To Sare Kapde Utar Gaye

और हम खुद ही खेतीबाडी करते हैं पर हाथ बंटाने के लिए हम ने एक लड़के को नौकर रक्खा हुआ है जिस का नाम लब्बू है। लब्बू बहुत ही शरीफ ईमानदार और शर्मीला लड़का है। उस का रंग बहुत ही काला है पर लब्बू पतला होते हुए भी काफ़ी ताकतवर है। हमारे दोनों बच्चे बोर्डिंग स्कूल में पढ़ते हैं और सिर्फ छुट्टीयों में ही घर पर आते हैं।  

अब मैं अपनी चुदाई की कहानी पर आती हूँ। बरसात का मौसम था फिर भी दोपर को धूप निकली हुई थी और मुझे कुछ कपड़े धोने थे. तो मै टोमी को घर पर छोड कर कपड़े धोने अपने ट्यूववैल पर चली गई और कपड़े धोने लगी। मैने पिंक कलर का सलवार कुर्ता पहन रक्खा था और और अंदर ब्रा और पैंटी नहीं पहनी थी।

कपड़े धोते धोते मैं पूरी तरह भीग गयी और गरमी के कारण मैं कपड़ों में ही ट्यूववैल के बडे़ नल के नीचे खड़ी हो कर नहाने लगी। तभी खेतों से काम कर के लब्बू भी आ गया। उसने सफेद बनियान और आस्मानी कलर का लम्बा और खुला कच्चा पहना हुआ था।

मैं उसको देख कर शरमा गयी कयोंकि मेरे गीले कपड़े मेरे जिस्म से चिपके हुए थे और मेरे स्तनो के काले निपल और चूत के काले बाल गीले कपड़ों में से साफ़ दिख रहे थे। मैं झट से बहां से हट गयी और देखा कि लब्बू मेरी तरफ पीठ करके खड़ा था। तो मैने लब्बू से पूछा कि बहां पर क्यों खड़ा है तो उस ने बताया कि उसे बहुत प्यास लगी है.

और बह ट्यूववैल का ठंडा पानी पीना चाहता है। तो मैने कहा कि पानी भी पी लो और नहा भी लो गरमी बहुत है और खाने का टाईम भी हो गया है और घर पर चल कर खाना खा लो। तो लब्बू बोला कि आप घर को चलो मैं फिर नहा कर आता हूँ। तो मैने कहा कि अभी नहा लो और मेरे धोए हुए कपड़े भी घर को ले चलो.

चुदाई की गरम देसी कहानी : Jaan Bachane Ke Liye Jism Ki Garmi Di

तो बह मेरी बात मान कर पानी पी कर नल के नीचे खड़ा हो कर नहाने लगा। मेरी नजर उसके गीले जिस्म पर पड़ी तो मैं देख कर हैरान हो गई। उसकी बनियान में से उसकी चौड़ी छाती और पतली कमर दिखने लगी। और जब मैने उसके गीले कच्छे की तरफ देखा तो और भी हैरान हो गई क्योंकि उस का सोया हुआ लंड भी सात इंच लम्बा लग रहा था और सांप की तरह काला था। “Naukar Porn”

मैं दिल ही दिल में सोचने लगी कि अगर यह लंड खड़ा होता होगा तो कितना बड़ा हो जाता होगा। और यह सोचते सोचते मेरी चूत में से पानी निकलने लगा। आखिर मैने तय कर लिया कि मैं आज इसका लंड खड़ा कर के ही रहूंगी और एक बार जरूर देखूंगी कि कितना बड़ा है।

मैने लब्बू को नहाने का साबुन दिया और कहा कि बह तब तक अपने जिस्म पर साबुन लगा ले और मैं नल के नीचे अच्छे से नहा लेती हूँ और मैं फिर नल के नीचे खड़ी हो कर अपने जिस्म को मल मल कर नहाने लगी। लब्बू ने अपनी बनियान उतार दी और अपने जिस्म पर साबुन मलने लगा। जब उसकी आंखों में साबुन लगा तो बह बार बार मेरी तरफ देखने लगा।

फिर मैं नल से हट गयी और लब्बू नहाने लगा। बह मेरी तरफ पीठ करके अपने जिस्म को मल रहा था और कच्छे में हाथ डाल कर अपने लंड से साबुन साफ़ करने लगा। थोड़ी देर जब लब्बू नहा कर हटा तो मैं नल के नीचे नहाने लगी और लब्बू को बोली कि मुझे भी साबुन देना मैं भी लगाना चाहती हूँ।

लब्बू जब मुझे साबुन दे कर बापस जाने लगा तो मैने उसे रोक लिया और कहा कि लब्बू जरा मेरी पीठ पर साबुन ही लगा दे. और मैने पीछे से अपना कुर्ता ऊपर उठाया और अपनी गोरी पीठ नंगी कर दी जिस से मेरा पेट और आधे आधे मम्में भी नंगे होकर उस को दिखने लगे। तो लब्बू ने कहा कि अंटीजी आप खुद ही लगा लें मुझे शरम आ रही है। “Naukar Porn”

तो मैने हंसते हुए कहा कि अगर शरम आ रही है तो साबुन लगाते समय अपनी आंखें बंद कर लेना। तो बह मान गया और मेरे पीछे खड़ा हो कर अपनी आंखें बंद कर के झिझकते हुए मेरी पीठ पर साबुन घिसने लगा। बह पीठ पर सिर्फ थोड़ी सी जगह पर ही साबुन लगा रहा था तो मैने कहा कि पूरी पीठ पर साबुन लगाओ डर क्यों रहे हो।

मस्तराम की गन्दी चुदाई की कहानी : Didi Ne Muth Marwaya Mujhse Apne Samne

कंधों से लेकर कमर के नीचे तक जहां तक नंगी हूँ अच्छी तरह साबुन लगाओ। तो बह बोला कि मैं डर रहा हूँ कि मेरा हाथ कहीं फिसल कर अगर आपके किसी और अंग को छू गया तो आप गुस्सा करेंगी। तो मैने कहा कि मैं गुस्सा क्यों करुंगी। मुझे तो पूरे जिस्म पर साबुन लगाना है। तुम अपनी आंखें खोल कर मजे से साबुन लगाओ।

तो लब्बू अब आंखें खोल कर मेरी पीठ कमर और कंधों पर प्यार से साबुन लगाने लगा। थोड़ी देर बाद उसने कहा कि अंटीजी अब साबुन लग चुका है मैं जाऊं। तो मैने कहा कि अब नल के नीचे चल कर पीठ का साबुन अपने हाथ से मल कर साफ़ भी तो कर दे। और मै नल के नीचे खड़ी हो गई और लब्बू भी मेरे पीछे खड़ा हो कर मेरी पीठ पर हाथ फेरने लगा।

नल का पानी हम दोनों पर गिर रहा था। इतने में मैं जानबूझ कर आगे को झुकी तो मेरे दोनों मम्मे पुरे नंगे होकर बाहर आ गये और मैने लब्बू से कहा कि अब मेरे कंधों को मल कर अच्छी तरह साफ़ कर दे. तो उसने कहा कि मेरा हाथ आप के कंधों तक नहीं पहुँच रहा है तो मैंने कहा कि तू भी थोड़ा झुक जा तो उसने झुक कर मेरे कंधों को मलना शुरू किया। “Naukar Porn”

मैं थोड़ा पीछे को हुई तो मेरी गीली गांड को उस का लंड चुभने लगा। तो मैने अपना एक हाथ पीछे करके उसे गीले कच्छे ऊपर से पकड़ते हुए कहा कि मुझे यह क्या चुभ रहा है। और मैं सीधे खड़ी हो गई और लंड को हाथ में पकड़े लब्बू की तरफ मुंह करके उसे पूछने लगी कि मुझे यह क्या चुभ रहा था।

तो लब्बू डर गया और कहने लगा कि अंटीजी मुझे माफ कर दो। मेरा कोई कसूर नहीं है यह खुद ही खड़ा हो गया। तो मैने कहा पहले बता कि यह तुमने क्या छिपाया है अपने कच्छे में। तो लब्बू डरते हुए बोला कि यह मेरा बह है। तो मैने पूछा कि बह क्या तेरा नाम क्यों नहीं लेता। तो बह कहने लगा कि नाम लेने में मुझे शरम आती है।

तो मैने मैने आहिस्ता से पूछा कि क्या कहा कि क्या यह तेरा लंड है तो उस ने कहा कि हां। तो मैने कहा कि तू तो अभी छोटा है तेरा इतना बड़ा नहीं हो सकता तूने जरूर कुछ छुपा कर रक्खा है। तो लब्बू ने कहा कि मैं सच कह रहा हूं कि यह मेरा लंड ही है। तो मैने कहा कि मैं नहीं मानती तू अपना कच्छा खोल कर दिखा.

अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरीज : Bike Par Lund Hatho Mein Aa Gaya Devar Ka

तो उसने डरते हुए अपने कच्छे का नाडा़ खोला और अपना लंड बाहर निकाल दिया और बोला कि देख लीजिए. तो मैने उसके काले लंड को हाथ में पकड़ लिया और कहा कि तेरा तो बहुत ही लम्बा और मोटा है. तो उसने कहा कि अंटीजी जब यह पूरा खड़ा हो जाए तो और भी बड़ा हो जाता है. तो मैंने कहा कि सच बता कि यह पूरा खड़ा कैसे होता है। “Naukar Porn”

तो लब्बू ने कहा कि अगर मैं किसी जबान औरत को नंगा देख लूं तो यह पूरा खड़ा हो जाता है और फिर बैठने का नाम नहीं लेता। तो मैंने कहा कि तुम झूठ बोल रहे हो यह तो पहले ही बहुत बडा है और तुम कह रहे हो कि यह और बडा हो जाता है। यह बताओ कि औरत का कोन सा अंग नंगा देख कर यह यह बडा हो जाएगा। शरमाओ मत मुझे साफ़ साफ़ बताओ। क्या मुझ जैसी औरत को नंगा देख कर भी यह पूरा खड़ा हो जाएगा।

तो लब्बू ने कहा कि आप तो बहुत ही सुंदर और जबान हैं। आप जैसी खूबसूरत औरत को नंगा देख कर ही इसका तो पानी भी निकल जाएगा। तो मैने कहा क्या मुझे नंगी देख कर तेरा लंड पूरा खड़ा हो जाएगा। तो लब्बू ने कहा कि आप ऐसा मत करना वरना मेरे लंड का बुरा हाल हो जाएगा और मैं अपने लंड का क्या करूंगा।

तो मैने कहा कि मुझे एक बार तेरा खड़ा लंड देखना है मैं तेरे सामने पूरी नंगी हो जाऊंगी तू मुझे अपना खड़ा लंड दिखा देना। यह कह कर मैने अपनी सलवार का नाडा़ खोला और सलवार उतार दी जिस से मेरी गोरी गोरी मोटी जांगें लब्बू ने देख लीं अब मैने अपना कुर्ता भी उतार फैंका और पूरी नंगी हो कर नल के नीचे नहाने लगी।

तो लब्बू अपने तने हुए काले लम्बे और मोटे लंड को पकड़ कर मेरे पास आ गया और बोला कि अंटीजी देख लो पूरा खड़ा हो गया है। अब आप कपड़े पहन लो बरना मैं मर जाऊंगा। जब मैने लब्बू का लंड देखा तो मेरे पसीने छूटने लगे। उसका लंड बहुत ही काला लम्बा और मोटा था बह किसी गधे के लंड जितना लग रहा था। “Naukar Porn”

मैने उस के लंड को जब अपने मे पकड़ा तो दबा कर देखा बह लोहे जैसा सख्त हो गया था। मैने जब उस की खाल को पीछे किया तो देखा कि उस का टोपा भी बहुत काला और मोटा था जिस में से बू आ रही थी। मैने साबुन उठाया और लब्बू के लंड पर लगाने लगी और हाय आगे पीछे फेरने लगी तो लब्बू के मुंह से आहें निकलने लगीं।

कामुकता हिंदी सेक्स स्टोरी : Chut Ki Chatni Banai Devar Ne Chod Chod Kar

मैने लब्बू की चौड़ी छाती पर भी साबुन लगाया और लब्बू को साबुन दे कर कहा कि यहां यहां तुम्हारा दिल करता है तुम भी मेरे जिस्म को साबुन लगा लो। मेरी बात सुन कर लब्बू बहुत खुश हुआ और मेरे भीगे जिस्म पर साबुन लगाने लगा।

उसने पहले मरी गर्दन पर फिर दोनों मम्मों पर पीठ पर मेरी मोटी गांड पर गोरी जांगों पर पिंडलियों पर मेरे पेट और नाभि पर और आखिर मे मेरी काले बालों बाली चूत पर साबुन लगाया। फिर साबुन रक्ख कर मेरे जिस्म पर हाथ फेरने लगा। तो मैने कहा कि आराम से मेरे जिस्म पर हाथ फेर कर मजे ले लो।

तो बह पहले मेरी गांड पर हाथ फेरते हुए बोलने लगा हाए अंटीजी आप की गांड कितनी गोरी औल मोटी है फिर मेरे ममों को मसलने लगा और बोला कि आज मैं कोई सपना देख रहा हूं। फिर पेट से होते हुए मेरी चूत पर आ गया और हाथ फेरते हुए बोलने लगा कि अंटीजी आप बहुत सुंदर हैं। जी करता है आपके जिस्म को चाटता रहूं। “Naukar Porn”

मै भी बहुत गरम हो चुकी थी और उस से लिपट कर नहाने लगी। मेरे दोनों मम्मे लब्बू के हाथ में थे और लब्बू का गधे जितना बड़ा फूला हुआ काला लंड मेरे हाथ में था। मेरी चूत पानी छोड़ रही थी और मैं लब्बू के लंड को पकड़ कर आगे पीछे करते हुए कहने लगी कि हाय लब्बू दिल कर रहा है कि तेरा काला लंड अपनी चूत में घुसा लूं पर यह बहुत मोटा है यह मेरी चूत में नहीं जा सकता। क्या करूं।

और मैने लब्बू की एक लम्बी उंगली पकड़ कर अपनी चूत में घुसा दी और कहा कि इसे आगे पीछे करके मुझे शांत करदे। और मैं उस के मोटे लंड को हाथ से आगे पीछे करने लगी। अपना एक मम्मा लब्बू के मुंह में डाल कर उसे चूसने कोभी कहा। हम दोनों आहें भर रहे थे। थोड़ी देर बाद मैं थोड़ा शांत हुई। तब मैने लब्बू से कहा कि चल आब कपड़े पहन कर घर चलते हैं और खाना खा कर कुछ तेरा भी सोचते हैं। लब्बू मान गया पर उस का लंड बैसे ही खड़ा था. दोस्तों आगे की कहानी अगले भाग में.

दोस्तों आपको ये Naukar Porn की कहानी मस्त लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और Whatsapp पर शेयर करे…………

Leave a Reply